Thursday, May 15, 2014

लेकिन माँ नहीं

वो इबादत इबादत नहीं जिसमे माँ का नाम नहीं
वो घर घर नहीं अबस है
जिसमे माँ को जगह नहीं ।

आज सबकुछ तो है मेरे पास
धन दौलत और शोहरत
नहीं है तो ख़ुश होने वाली माँ नहीं ।

देर रात को आता हूं
खाली पेट ही सो जाता हूँ
आँखों में नींद तो है, माँ की डांट का डर नहीं ।

सुबह देर तक सोता हूँ
अब तो हर रोज ही
अलार्म की घंटी तो है पर माँ की प्यारी आवाज़ नहीं ।

दिन -दिन भर रहता हूँ घर से बाहर
उन्मुक्तता है , आजादी है
लेकिन माँ की फटकार नहीं ।

19 comments:

  1. माँ की कमी हर पल महसूस होती है बच्चों को ...
    भावपूर्ण रचना है ...

    ReplyDelete
  2. भावपूर्ण रचना और उम्दा प्रस्तुति के लिए आपको बहुत बहुत बधाई...
    नयी पोस्ट@आप की जब थी जरुरत आपने धोखा दिया (नई ऑडियो रिकार्डिंग)

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर लिखा है.

    ReplyDelete
  4. सुंदर प्रस्तुति , आप की ये रचना चर्चामंच के लिए चुनी गई है , सोमवार दिनांक - १३ . ७ . २०१४ को आपकी रचना का लिंक चर्चामंच पर होगा , कृपया पधारें धन्यवाद !

    ReplyDelete
  5. बहुत सुन्दर प्रस्तुति।

    ReplyDelete
  6. sundar prastuti.

    Please visit here also - http://hindikavitamanch.blogspot.in/

    ReplyDelete
  7. आपका ब्लॉग मुझे बहुत अच्छा लगा, और यहाँ आकर मुझे एक अच्छे ब्लॉग को फॉलो करने का अवसर मिला. मैं भी ब्लॉग लिखता हूँ, और हमेशा अच्छा लिखने की कोशिस करता हूँ. कृपया मेरे ब्लॉग पर भी आये और मेरा मार्गदर्शन करें.

    http://hindikavitamanch.blogspot.in/
    http://kahaniyadilse.blogspot.in/

    ReplyDelete
  8. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शुक्रवार (29-05-2015) को "जय माँ गंगे ..." {चर्चा अंक- 1990} पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक

    ReplyDelete
  9. Very nice & interesting post. Thanks for sharing.

    ReplyDelete
  10. ghar ke aadhar sila hoti hai maabahut sunder rachna ..

    ReplyDelete
  11. भावपूर्ण रचना

    ReplyDelete
  12. बहुत बहुत बढ़िया भावपूर्ण रचना

    ReplyDelete
  13. बहुत खूब
    http://savanxxx.blogspot.in

    ReplyDelete

आपकी राय हमारे लिये महत्तवपूर्ण है । अपनी बात को बेबाकी से कहें ।